मुंबई(लाइवभारत24)। लोकप्रिय बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत को दो महीने हो गए। अब तक यह साफ नहीं हो पाया कि उनकी हत्या हुई है या उन्होंने आत्महत्या की। उधर, इस मामले की जांच मुंबई और बिहार पुलिस से निकलकर सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय के हाथों में पहुंच चुकी है। सीबीआई ने जांच शुरू भी कर दी है। केंद्रीय जांच एजेंसी ने सबसे पहले सुशांत के कुक नीरज सिंह से पूछताछ की। इस केस से जुड़े ऐसे ही 10 किरदार, जो सीबीआई के रडार पर हैं जिसमे पहले नंबर पर सुशांत की मौत का एक बड़ा राजदार उनके घर में 8 महीने से काम करने वाला कुक नीरज भी है। नीरज को कुछ महीने पहले रिया ने ही नौकरी पर रखा था। नीरज से बिहार और मुंबई पुलिस पूछताछ कर चुकी है। नीरज ने एक इंटरव्यू में बताया था कि आत्महत्या वाले दिन सुशांत ने उनसे पानी मांगा था और फिर वह कमरे में चले गए थे। नीरज ने बताया था कि सुशांत का 12 लोगों का स्टाफ था, जिसमें से कुछ लोगों को उन्होंने काम से निकाल दिया था। नीरज ने यह भी बताया था कि घटना वाले दिन सुशांत रूम में चले गए थे। इसके बाद उसने रुम का दरवाजा खटखटाया, लेकिन कोई रिप्लाई नहीं आया। वह आधे घंटे के बाद फिर गया। केशव बचनेर ने भी ऐसा ही किया। उसने दो बार सुशांत को कॉल भी किया था, लेकिन रिप्लाई नहीं आया। फिर उनकी बहन को कॉल किया गया व दूसरा केशव डेढ़ साल से सुशांत के साथ रहा था। मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो केशव को रिया ने नौकरी पर रखा था। यही वो शख्स है जिसने आखिरी बार सुशांत से बात की थी और उन्हें पीने के लिए जूस दिया था। सुशांत की मौत से पहले की मनोस्थिति को केशव ही अच्छी तरह से समझा सकता है। सीबीआई केशव से जल्द पूछताछ कर सकती है। वही तीसरा चेहरा सिद्धार्थ एक क्रिएटिव कंटेंट मैनेजर के रूप में काम कर रहे थे। सुशांत ने अपनी कंपनी विविड्रेज रियलिटीएक्स में सिद्धार्थ को ग्राफिक्स बनाने के लिए नियुक्त किया था। इस कंपनी को सुशांत के साथ उनकी प्रेमिका रिया और उनका भाई शोविक चलाता था। सिद्धार्थ ने ही सुशांत के शव को सबसे पहले पंखे से लटकते हुए देखा और उनकी बहन मीतू को फोन किया। उन्होंने पुलिस को बताया है कि मीतू के कहने पर ही उन्होंने सुशांत की बॉडी को नीचे उतारा और उसकी सांस चेक की थी। सिद्धार्थ से मुंबई पुलिस और ईडी ने दो-दो बार पूछताछ की है। सिद्धार्थ पिठानी ने ही सबसे पहले सुशांत की बहन मीतू सिंह को फोन कर उनके पंखे से लटके होने की जानकारी दी थी।सिद्धार्थ पिठानी ने ही सबसे पहले सुशांत की बहन मीतू सिंह को फोन कर उनके पंखे से लटके होने की जानकारी दी थी। सुशांत केस में एक बड़ा किरदार दीपेश सावंत है। मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो बिहार पुलिस और मुंबई पुलिस की पूछताछ के बाद से यह शख्स घर से गायब है। ईडी की टीम ने भी इसे पूछताछ के लिए समन किया था। ईडी दीपेश से यह जानना चाहती है कि पिछले दो से चार महीनों में सुशांत के बैंक अकाउंट से रकम किस तरह से निकाली गई और बैंक से पैसे निकालने में रिया की क्या भूमिका थी। दीपेश को भी रिया ने ही नौकरी पर रखा था। दीपेश के भाई का कहना है कि वह कुछ दिनों से घर पर नहीं आया है। सुशांत की मौत के बाद उनके घर पर पहुंचने वाला पहला बाहरी व्यक्ति एक चाबीवाला था। न्यूज चैनल टीवी-9 ने गुरुवार को उसे खोज निकाला। उसने बताया कि 14 जून को उसे सिद्धार्थ पिठानी ने फोन किया था। 10 मिनट में वह बांद्रा स्थित घर पर पहुंच गया था। सुशांत के कमरे का लॉक एक मिनट से भी कम समय में खुल गया और सिद्धार्थ ने पैसे देकर जाने को कहा। वह कमरे के अंदर देखना चाहता था, लेकिन उसे देखने नहीं दिया गया। करीब 1 घंटे बाद चाबी वाले को दोबारा पुलिस स्टेशन से फोन आया। उसने अपना बयान दर्ज कराया।
14 जून को सुशांत की बॉडी को कमरे से नीचे एम्बुलेंस तक ले जाने वाला अक्षय है। जी न्यूज के इंटरव्यू में अक्षय ने बताया कि वह जैसे ही सुशांत के कमरे में दाखिल हुआ तो उसने देखा कि अभिनेता की बॉडी पहले से ही सीलिंग से नीचे उतारकर बेड पर रखी हुई थी। पुलिस के कहने उसने बॉडी को एक चादर में लपेटा और स्ट्रेचर पर कुछ लोगों के सहारे बिल्डिंग से नीचे लेकर गया।
अक्षय ने बताया था कि एम्बुलेंस के व्हीलचेयर में कुछ दिक्कत आ गई थी, जिसकी वजह से सुशांत की बॉडी उसमें फिट नहीं हो रही थी। इसलिए, दूसरी एम्बुलेंस को तुरंत मौके पर बुलाया गया और फिर आगे के लिए रवाना हुए। सीबीआई उस दिन के घटनाक्रम को रीक्रिएट करने के दौरान अक्षय से पूछताछ कर सकती है। श्रुति सुशांत के फाइनेंस और फिल्मों के काम को मैनेज करती थीं। श्रुति से दो-दो बार प्रवर्तन निदेशालय और मुंबई पुलिस की टीम पूछताछ कर चुकी हैं। वे दोनों जांच एजेंसियों को सुशांत के काम और उनके इन्वेस्टमेंट से जुड़ी जानकारी दे चुकी हैं। मुंबई पुलिस को श्रुति ने बताया कि सुशांत के सारे फैसले रिया लेती थीं। श्रुति रिया के टैलेंट मैनेजर के रूप में भी काम कर करती थीं। सुशांत के पिता ने बिहार में धोखाधड़ी की जो शिकायत दर्ज कराई है उसमें श्रुति का भी नाम है। सैमुअल सुशांत के हाउस मैनेजर था। वह घर में काम करने वाले कर्मचारियों और खर्चों का हिसाब रखता था। सैमुअल से पुलिस ने कोई पूछताछ नहीं की, लेकिन ईडी ने शिकायत में उनका नाम दर्ज किया है। सुशांत के पिता ने भी अपनी शिकायत में सैमुअल का नाम डाला है। सैमुअल से ईडी ने 5 अगस्त और 6 अगस्त को पूछताछ की थी। उनका बयान मनी लॉन्ड्रिंग मामले में दर्ज किया गया है। सैमुअल को भी रिया ने नौकरी पर रखा था। शोविक सुशांत की दो कंपनियों में पार्टनर था। सुशांत के पिता ने एफआईआर में आरोपी बनाया है। रिया के बाद सुशांत की ओर से सभी फैसले शोविक ही लिया करता था। एक्टर की ग्राफिक्स कंपनी को शोविक चलाता था। वह रिया और सुशांत के साथ बाहर भी जाता था। मुंबई पुलिस दो बार और प्रवर्तन निदेशालय 3 बार शोविक से पूछताछ कर चुकी है। एक बार तो 18 घंटे तक पूछताछ हुई। सुशांत के जीवन की सबसे अहम किरदार है रिया चक्रवर्ती। सीबीआई ने जो एफआईआर दर्ज की है उसमें भी रिया का नाम है। रिया ने अदालत में दायर की गई याचिका में कहा था कि वह सुशांत के साथ लिव इन रिलेशनशिप में थीं।
मुंबई पुलिस और प्रवर्तन निदेशालय की टीम 2-2 बार उनसे पूछताछ कर चुकी है। रिया दिवंगत अभिनेता की तीनों कंपनियों में पार्टनर भी थीं। सुशांत के पिता ने उन पर आत्महत्या के लिए उकसाने और 15 करोड़ की धोखाधड़ी का आरोप लगाया है।

1 कमेंट

कोई जवाब दें

कृपया अपनी कमेंट दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें